उद्घाटन समारोह से पहले की रस्में सुबह होंगी शुरू, PM मोदी का भी भाषण

नई दिल्ली।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार यानी 28 मई को नए संसद भवन का उद्घाटन करेंगे। उद्घाटन की अभी तक सटीक जानकारी सरकार के द्वारा जारी नहीं की गई है, लेकिन न्यूज एजेंसी एएनआई ने सूत्रों के हवाले से इसका पूरा विवरण दिया है। उद्घाटन कार्यक्रम दो चरणों में होगा। सूत्रों ने बताया कि उद्घाटन समारोह से पहले की रस्में सुबह शुरू होंगी। संसद भवन परिसर में महात्मा गांधी प्रतिमा के पास एक पंडाल में इसे आयोजित किए जाने की संभावना है।

इस कार्यक्रम पीएम मोदी, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला, राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश और सरकार के कुछ वरिष्ठ मंत्रियों के शामिल होने की संभावना है। पूजा के बाद सभी नए संसद भवन में लोकसभा और राज्यसभा का निरीक्षण करेंगे।

पूजा और अनुष्ठानों के बाद लोकसभा स्पीकर की कुर्सी के ठीक बगल में पवित्र ‘सेंगोल’ स्थापित किया जाएगा। इस दौरान डिजाइन करने वाले मूल जौहरी और तमिलनाडु के पुजारी मौजूद रहेंगे। सूत्रों का कहना है कि नए संसद भवन के परिसर में एक प्रार्थना समारोह भी आयोजित किया जाएगा। सुबह का चरण करीब 9:30 बजे पहला चरण समाप्त होगा।

दूसरे चरण की शुरुआत दोपहर में लोकसभा में राष्ट्रगान के साथ होगी। इस दौरान पीएम मोदी सहित कई दिग्गज मौजूद रहेंगे। इसके बाद राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश राज्यसभा के सभापति जगदीप धनखड़ की ओर से जारी एक लिखित बधाई संदेश पढ़ेंगे। इस अवसर पर राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू का लिखित संदेश भी पढ़ा जाएगा।

इस अवसर पर राज्यसभा में विपक्ष के नेता के भाषण के लिए भी एक स्लॉट रखा गया है। हालांकि, कांग्रेस पार्टी की अगुवाई में विपक्ष इसका विरोध कर रहा है। इसके कारण मल्लिकार्जुन खड़गे रविवार को समारोह में शामिल नहीं होंगे।

सूत्रों के मुताबिक, पीएम मोदी इस ऐतिहासिक अवसर पर एक सिक्का और डाक टिकट भी जारी करेंगे। वह इस दौरान भाषण भी देंगे।

आपको बता दें कि विपक्ष के बहिष्कार के आह्वान के बीच केंद्र को 25 राजनीतिक दलों का समर्थन मिला है। भाजपा के अलावा, अन्नाद्रमुक, अपना दल, रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया, शिवसेना के शिंदे गुट, एनपीपी और एनपीएफ सहित एनडीए में शामिल कई दलों ने रविवार को समारोह में भाग लेने की पुष्टि की है। इसके अलावा बीजू जनता दल, टीडीपी और वाईएसआरसीपी सहित कई दल मौजूद रहेंगे। रविवार को होने वाले समारोह में विपक्षी दलों में शिरोमणि अकाली दल (शिअद), बहुजन समाजवादी पार्टी (बसपा) और जनता दल-सेक्युलर भी शामिल होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button