हिंसा पर सरकार सख्त: तत्कालीन कलेक्टर और एसपी निलंबित किए गए

रायपुर। बलौदबाजार हिंसा मामले पर साय सरकार सख्त है. सरकार ने तत्कालीन कलेक्टर के एल चौहान और एसएसपी रहे सदानंद को निलंबित कर दिया है. बुधवार को ही कलेक्टर और एसएसपी का तबादला कर दिया था. बताया जा रहा है कि घटना की प्रारंभिक रिपोर्ट आने के बाद सरकार ने निलंबन की कार्रवाई की है.

 

कलेक्टर केएल चौहान के निलंबन का आदेश –

एसपी पी. सदानंद के निलंबन का आदेश –

निलबंन अवधि में आईएएस केएल चौहान का मुख्यालय महानदी भवन होगा. वहीं निलबंन अवधि में एसपी पी सदानंद का मुख्यालय पुलिस मुख्यालय रायपुर रहेगा.

बता दें, 15 और 16 मई की दरमियानी रात कुछ असामाजिक तत्वों ने गिरौधपुरी धाम में सतनामी समाज के धार्मिक स्थल के पूज्य जैतखाम में तोड़फोड़ की थी. मामले में कार्रवाई करते हुए पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया था. पुलिस की इस कार्रवाई से समाज के लोग असंतुष्ट थे और न्यायिक जांच की मांग कर रहे थे. इस बीच सोमवार को गृहमंत्री विजय शर्मा ने न्यायिक जांच की घोषणा की. वहीं जैतखाम में तोड़फोड़ के विरोध में हजारों लोग कलेक्ट्रेट के पास एकत्र हुए और जमकर हंगामा किया. जहां प्रदर्शन हिंसक हो गया. जिसके बाद उपद्रवियों ने तांडव मचाते हुए कलेक्टर और एसपी कार्यालय को आग के हवाले कर दिया. इस घटना में वहां मौजूद 20-30 पुलिसकर्मी घायल हो हुए. फिलहाल, शहर में 16 जून तक धारा 144 लागू है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button