यातायात माह समापन में जागरूकता करने वाले संस्थाओं व विद्यार्थियों को किया गया सम्मानित

यातायात माह के समापन कार्यक्रम में जागरूकता के लिए काम करने वाले संस्थाओं, विद्यार्थियों को किया गया सम्मानित

सिविल सोसाइटी शहर के ट्रैफिक सुधारने के लिए प्रशासन के साथ आएं: डॉ गौरव सिंह

पुलिस द्वारा प्रति माह यातायात सुधार व जन सुरक्षा के लिए अच्छा कार्य करने वाले पाँच लोगो को सम्मानित किया जाएगा: संतोष सिंह

रायपुर. जिले में चल रहे सड़क सुरक्षा माह के समापन कार्यक्रम में कलेक्टर डॉ गौरव सिंह और एसपी संतोष कुमार सिंह शामिल हुए। उन्होंने इस माह में यातायात जागरूकता के लिए उत्कृष्ठ कार्य करने वाले संस्था और आयोजित किए गए विभिन्न प्रतियोगिताओं के विजेता विद्यार्थियों को सम्मानित किया गया। कलेक्टर डॉ गौरव सिंह ने कहा कि इस प्रकार के कार्यक्रम तब तक सिर्फ आयोजन के रूप में याद रखें जाते हैं। अक्सर यह देखा जाता है कि जबतक कोई परिचित या अन्य दुर्घटना का शिकार न हो, तभी हम सब यातायात के नियमों को याद करते हैं। हो सकता कुछ दिन पालन भी करें लेकिन मानवीय प्रवृत्ति के कारण हम भूल भी जाते हैं, लेकिन चाहिए कि हम सब सड़क नियमों का पालन करें और दूसरों को भी प्रेरित करें। कलेक्टर ने कहा कि कई सड़क दुर्घटना के कारण अधोसंरचना में कमी होना है। प्रशासन निरंतर इस दिशा में प्रयासरत रहता है और सुधार कार्य करते रहते हैं मगर बात यहीं तक सीमित नही है। एक आम नागरिक की जिम्मेदारी बनती है कि शासकीय संपत्ति की अधोसंरचना की सुरक्षा करें और उसे बचाए रखें।इस अवसर पर एसपी  संतोष सिंह ने कहा कि गतवर्ष के तुलना में सड़क दुर्घटनाओं के मौतों में अवश्य कमी आई हो मगर दुर्घटनाओं में वृद्धि हुई है। हम पहले सड़क सप्ताह मनाते थे। फिर पखवाड़ा अब माह मनाने लगे और आने वाले समय में वर्ष मनाने की आवश्यता पड़ेगी। वास्तव में यातायात सप्ताह के प्रति निरंतर जागरूक रहने की आवश्यकता है। उन्होंने विदेशों में यातायात नियमों का उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि हम सब नागरिक यातायात नियमों के प्रति जागरूक हों और दिनचर्या में शामिल करें। यातायात के बेसिक नियम हेलमेट, सीट बेल्ट, नशें में वाहन न चलाना इत्यादि का पालन करें। यह याद रखें हम सभी को ट्रैफिक नियमों का पालन करना है तभी सड़क दुर्घटनाओं में कमी आएगी।यातायात पुलिस रायपुर द्वारा दिनांक 15 जनवरी से 14 फरवरी 2024 तक 01 माह सड़क सुरक्षा जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। यातायात जागरूकता मुहिम में सहभागिता देने वाले एनजीओ, निजी संस्थान, स्कूली छात्र/छात्राएॅ एवं यातायात पुलिस के अधिकारी एवं स्टाफ का सम्मान एवं सड़क सुरक्षा माह का समापन समारोह का आयोजन कार्यालय अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक यातायात के सभागार में दोपहर 12.00 बजे से  गौरव कुमार सिंह कलेक्टर रायपुर,  संतोष सिंह पुलिस अधीक्षक रायपुर, विश्वदीप जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी एवं विमल पाठक प्रशिक्षु आईपीएस के आतिथ्य में किया गया। कार्यक्रम में उपस्थित अतिथियों का स्वागत श्री सचिन्द्र कुमार चौबे अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक यातायात, गुरजीत सिंह, श्री सुशांतो बनर्जी एवं श्री कर्ण कुमार उके, उप पुलिस अधीक्षक यातायात रायपुर द्वारा पुष्प गुच्छ प्रदाय कर स्वागत किया गया।
स्वागत उपरांत गुरजीत सिंह उप पुलिस अधीक्षक यातायात रायपुर ने विगत 01 माह में यातायात जागरूकता के दौरान किये गये कार्यों के प्रतिवेदन में बताया कि सड़क सुरक्षा माह का शुभारंभ अनुपम नगर गार्डन में जुम्बा कार्यक्रम व कलेक्ट्रेट चौक में छत्तीसगढ़ महतारी के प्रतिमा के सामने हेलमेट रैली निकालकर किया गया। इस दौरान पैदल रैली, वाकाथन, सीट बेल्ट जागरूकता रैली, ई-रिक्शा वाहनों का शहर में भ्रमण कर प्रचार प्रसार कराया, व्यवसायिक वाहन चालकों का नेत्र/स्वास्थ्य परीक्षण शिविर , व्यवसायिक वाहन चालकों का प्रशिक्षण, चौक चौराहों में पांपलेट वितरण, नियमों का पालन करने वालों को हेलमेट वितरण, वाटर बाटल वितरण, यात्री वाहनों एवं स्कूली बसों में बैनर एवं स्टीकर लगाया, स्कूल स्तरों में अलग अलग ब्लाक स्तरों में छात्र/छात्राओं का निबंध, रंगोली, चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन, चौक चौराहों में आईटीएमएस के पीए. सिस्टम से अनाउंस कर प्रचार प्रसार, शैक्षणिक संस्थाओं में छात्र/छात्राओं को यातायात नियमों की जानकारी देना, ग्रामीण क्षेत्रों में नुक्कड़ नाटक के माध्यम से यातायात चौपाल लगाना एवं चौक चौराहों में पोस्टर बैनर के माध्यम से यातायात नियमों का प्रचार प्रसार करते हुए 275 कार्यक्रमों में 5 लाख 50000 से भी अधिक लोगों तक अपने बातो को पहुचाया गया।
संतोश सिंह पुलिस अधीक्षक रायपुर ने अपने उद्बोधन में कहा कि पहले यातायात सप्ताह का आयोजन किया जाता है अब वह पखवाड़ा एवं माह में बदल गया है लेकिन सड़क दुर्घटनाओं को देखते हुए जिसमें लोगों की अकाल मृत्यु दिनोदिन हो रही है इसे देखते हुए लग रहा है कि सड़क सुरक्षा साल मनाना पड़ेगा। दुर्घटना जो समस्या है वह अत्यंत गंभीर है क्योंकि पुरी दुनियॉ में जनसंख्या में भारत दूसरे स्थान पर है परंतु सड़क दुर्घटना में मृतकों की संख्या में प्रथम नंबर पर है। विगत वर्ष भारत देश में लगभग 5 लाख दुर्घटनाओं में 163000 लोगों की मृत्यु एवं 446000 लोग घायल हुए। साल 2022 में रायपुर जिले में 583 लोगों की मौत हुई थी तथा साल 2023 में मौतों की संख्या 507 हो गयी जो 13 प्रतिशत कम लोग मरे है परंतु सड़क दुर्घटना एवं घायलों की संख्या में बढ़ोत्तरी हुई है। प्रत्येक व्यक्ति की जीवन महत्वपूर्ण है जिसे हम सबको बचाना है। सड़क दुर्घटना के 04 प्रमुख कारण है ओव्हर स्पीडिंग, ड्रंकन ड्रायविंग, सीट बेल्ट लगाना, हेलमेट लगाना। इन चार नियमों का भी थोड़ा सा पालन कर लिया जाय तो हम मानव मृत्यु को बहुत हद तक कम किया जा सकता है। सड़क पर निकलते है तो यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि हमें अनिवार्य रूप से यातायात नियमों का पालन किया जाए तभी दुर्घटनाओं में कमी लाया जा सकता है। सड़क दुर्घटना में घायलों की मदद करने वाले गुड सेमेरिटन को प्रोत्साहित किया जावेगा। प्रत्येक माह 05 गुड सेमेरिटन को पुरस्कृत किया जावेगा एवं अन्य लोगों को प्रेरित व प्रोत्साहित करने के लिए उनका फोटो चौक चौराहों पर होर्डिंग्स में प्रदर्शित किया जावेगा।
कलेक्टर रायपुर द्वारा अपने उद्बोधन में बताया कि लापरवाहीपूर्वक वाहन चलाने वालों के कारण जो नियम के पालन करने वाले होते है वे दुर्घटना के शिकार होते है। इसके लिए जरूरी है हम सबको यातायात नियमों का पालन करना होगा। आप चाहे 100 मीटर या 100 किमीं चले, दुर्घटना कब होगी यह कोई नही जानता है इसलिए जब भी आप सड़क पर निकले, सड़क सुरक्षा से जुड़ी हुई सभी नियमों का पालन करना होगा। सड़क सरकारी है और सड़क पर सुरक्षित चलना हम सबकी जिम्मेदारी है, अतिक्रमण कर दूसरों के लिए एवं स्वयं के लिए खतरा न बढ़ाये। सड़क सुरक्षा पूरे वर्ष की प्रक्रिया है। यातायात नियम मनाने वाली चीज नही है बल्कि यह मानने वाली चीज है, सड़क पर निकलने के दौरान हम सबको नियमों का मानना होगा। हम सबको मिलजुलकर काम करना होगा। उपस्थित एनजीओ, यातायात पुलिस एवं छात्र/छात्राओं, शिक्षकों को कहा कि आप लोग जो काम कर रहे है वह लोगों के जान बचाने का कार्य है इससे बड़ा कोई कार्य नही हो सकता। आपका यह प्रयास साल भर चलता रहे तो निश्चित ही सड़क हादसों में मरने वालों की संख्या को कम करने में सफल होंगे। इसके पश्चात सड़क सुरक्षा माह के दौरान यातायात पुलिस के साथ कदम से कदम मिलाकर कर सराहनीय योगदान देने एनजीओ- यंग इंडियन रायपुर, एस के फायनेस, पात्रा इंडिया लिमिटेड, नेहरू युवा मंच, साया फाउंडेसन, सर्वमंगल फाउंडेसन, प्रभारी एन एस अधिकारी एवं एनएसएस दल दुर्गा महाविद्यालय, सुरक्षित भवः फाउंडेसन, प्रत्युषा फाउंडेसन, मारूती ड्रायविंग स्कूल, स्काई आटोमोबाईल्स, स्पर्श आटो मोबाईल्स, परफेक्ट ड्राईविंग स्कूल, मोर पिरोहिल लोक कला मंच के अतिरिक्त सड़क सुरक्षा माह के दौरान यातायात जन जागरूकता कार्य में प्रभावी कार्य करने वाले यातायात पुलिस रायपुर के यातायात प्रशिक्षक सहा उप निरी टी के भोई, प्रशिक्षक सहायक आरक्षक सहदेव वर्मा, रक्षित निरीक्षक अनीस सारथी, उनि माधव प्रसाद तिवारी, उनि श्याम सिंह नेताम को सम्मनित किया गया।
सड़क सुरक्षा माह 2024 के दौरान स्कूल स्तर पर भी निबंध/चित्रकला/रंगोली प्रतियोगिता का आयोजन किया गया था जिसमें रायपुर जिला के विभिन्न स्कूलों के छात्र-छात्राओं द्वारा भाग लिया गया था। प्रतिभागी छात्र-छात्राओं में से दानी गर्ल्स हा0 से0 स्कूल रायपुर, अभनपुर विकास खंड के सेजेस माध्य0 शाला, माध्य शाला मुर्रा,पलौद, जुलुम, हा0से0 स्कूल पलौद, अभनपुर, परसदा, केन्द्री, सारखी, टेकारी, पोड़ तामासिवनी, नवागांव, कोलर, कठिया, कन्या शाला अभनपुर, सोंठ, रायपुर कान्वेट स्कूल गुढ़ियारी, पूर्व माध्य0 शाला गोगांव के छात्र-छात्राओं के प्रविष्ठि श्रेष्ठ व सराहनीय पाये जाने से इन स्कूलों के 38 छात्र-छात्राओं को पुरस्कृत किया गया।
सड़क सुरक्षा व यातायात प्रबंधन पर अच्छे कार्य करने वाले यातायात शाखा के 21 पुलिस अधिकारियों को भी पुरस्कृत किया गया है। सुशांतो बनर्जी उप पुलिस अधीक्षक यातायात रायपुर द्वारा कार्यक्रम में उपस्थित अतिथियों, एनजीओ, शिक्षकों, छात्र-छात्राओं, यातायात पुलिस के अधिकारी/कर्मचारी एवं मीडिया के सभी साथीगणों को अपना बहुमूल्य समय निकालकर कार्यक्रम में अपनी गरिमामयी उपस्थित प्रदाय करने के लिए आभार प्रदर्शित कर धन्यवाद देते हुए कार्यक्रम समाप्ति की घोषणा की गयी ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button