महतारी वंदन योजना की आड़ में गरीब महिलाओं को किया जा रहा ठगने का काम

दुर्ग. जिले में महतारी वंदन योजना की आड़ में गरीब महिलाओं को ठगने का काम शुरू हो गया है. हालत ये है कि आंगनबाड़ी से लेकर निगम की एमआईसी मेंबर तक अवैध वसूली में लगी हुई हैं. महिलाओं से फॉर्म पर साइन करने के लिए 20-20 रुपये लिया जा रहा है. अब इस मामले में वीडियो वायरल होने के बाद भाजपा के पार्षदों ने रिसाली निगम की कांग्रेस पार्षद और एमआईसी सदस्य को बर्खास्त करने की मांग की है. साथ ही इस संबंध में संभाग आयुक्त दुर्ग को पत्र भी लिखा है.

दरअसल, दुर्ग जिले में 14 फरवरी की स्थिति तक महतारी वंदन योजना के ढाई लाख से ज्यादा आवेदन जमा हो चुके हैं. कलेक्टर ने इसके लिए निगम, आंगबाड़ी कार्यकर्ताओं से लेकर अन्य विभाग की ड्यूटी लगाई है. इसके साथ ही भाजपा और कांग्रेस के नेता-पदाधिकारी भी इस कार्य में सहयोग कर रहे हैं. लेकिन इन सबके बीच दुर्ग जिले में गरीब महिलाओं से पैसे लेकर फॉर्म भराने या साइन करने का मामला सामने आया है. इसका वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है. जो कि भिलाई पावर हाउस क्षेत्र का है.

फॉर्म का लिया जा रहा था 100 रुपये, विवाद बढ़ तो लौटाए

यहां एक आंगबाड़ी कार्यकर्ता महिलाओं से महतारी वंदन योनजा का फार्म भरने के बदले 100 रुपये ले रही थी. जब इसकी जानकारी भाजपा कार्यकर्ताओं को हुई तो उन्होंने बवाल मचा दिया. बाद में मामला बढ़ने पर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता ने लिए गए पैसे महिलाओं को वापस कर दिए. इसका वीडियो जब वायरल हुआ तो निगम आयुक्त और कलेक्टर ने महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारी को कार्रवाई के लिए निर्देशित किया. इसके बाद उस आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को सेवा से बर्खास्त कर दिया गया है.

रात-रात तक मैं फॉर्म पर साइन करती हूं- पार्षद

दूसरा मामला रिसाली नगर निगम का है यहां की कांग्रेस पार्षद और एमआईसी मेंबर का एक वीडियो वायरल हुआ है. इस वीडियो में वो महिलाओं के विवाह प्रमाण पत्र में साइन करने के लिए 20-20 रुपये ले रही हैं. जबकि यह कार्य पार्षद को नि:शुल्क करना है. पार्षद द्वारा रुपये लिए जाने का वीडियो जारी होने के बाद भी अब तक उसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई है. ये वही पार्षद है जिसने कांग्रेस शासनकाल में दबंगई दिखाते हुए सार्वजनिक रास्ते को घेरकर अपने घर की दावार खड़ी कर दी थी.

जब मामले को लेकर पार्षद से बात की गई तो उनका कहना था कि वे रात 11 बजे तक लोगों के फॉर्म पर साइन करती हैं. वहीं पार्षद के पास पहुंची कुछ महिलाओं का कहना है कि फॉर्म में साइन कराने के लिए 20-20 रुपये लिया जा रहा है. हालांकि इनमें से एक महिला ने कहा कि उससे पार्षद ने कोई पैसा नहीं लिया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button